चेन्नई और कोलकाता के बीच खेला जाएगा फाइनल मुकाबला, जानिए क्या है दोनों टीमों की सबसे बड़ी ताकत

Spread the love


IPL 2021 Final CSK vs KKR: 190 दिन का इंतजार, 8 टीमों के बीच जबरदस्त मुकाबले, 60 मैचों का रोमांच और इस साल का आईपीएल खिताब, इतना सब होने के बाद पता चलेगा कि 2021 का चैंपियन कौन है. चेन्नई सुपर किंग्स शुक्रवार, 15 अक्टूबर को दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में 2021 इंडियन प्रीमियर लीग के फाइनल में कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ भिड़ने के लिए तैयार है. इयोन मोर्गन की कप्तानी वाली नाइट राइडर्स 2014 के सीजन के सात साल बाद आईपीएल फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में सफल रही है. आईपीएल 2021 के खिताब की रेस में भले ही एक्सपर्ट सीएसके को खिताब का प्रबल दावेदार बता रहे हैं, लेकिन दो बार की चैंपियन और इस साल अपनी खतरनाक गेंदबाजी की बदौलत फाइनल में प्रवेश करने वाली केकेआर भी कम नहीं है. चलिए जानते है कि क्या कहते हैं आंकड़े.

CSK vs KKR हेड टू हेड

आईपीएल में अगर दोनों टीमों के आकड़ो की बात करें तो यहां पर 3 बार की चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स का पलड़ा भारी है. आईपीएल में दोनों टीमों के बीच 27 मुकाबले हुए है, जिनमें चेन्नई को 17 तो वहीं कोलकाता को 9 मुकाबलों में जीत मिली है. यूएई में हुए 3 मुकाबलों में चेन्नई को 2 और केकेआर को 1 में जीत मिली. सीएसके की प्लेऑफ हिस्ट्री की बात करें तो साल 2020 को छोड़कर 11वीं बार प्लेऑफ में जगह बनाई है. इसके साथ ही 9 बार फाइनल खेला है और 3 बार विजेता रही है. वहीं, कोलकाता की बात करें तो 6 बार प्लेऑफ तक सफर तय किया है और 2 बार विजेता रही है. साल 2012 में गौतम गंभीर की कप्तानी में कोलकाता ने चेन्नई को हराकर आईपीएल का खिताब अपने नाम किया था. 

चेन्नई की ताकत एमएस धोनी

चेन्नई सुपर किंग्स की बात करें तो इनकी सबसे बड़ी ताकत है कप्तान महेंद्र सिंह धोनी. धोनी का दिमाग खेल को कभी भी पलट सकता है. इसके बाद चेन्नई की ओपनिंग बल्लेबाजी काफी मजबूत है. पूरे टूर्नामेंट में इस टीम की ओपनिंग जोड़ी ने अच्छी शुरूआत दिलाई है. इसके साथ ऑरेंज कैप के दो दावेदार भी इस टीम में शामिल है. इस टीम की बल्लेबाजी में काफी गहराई है. चेन्नई की कमजोरी की बात करें तो कोलकाता के बॉलिंग अटैक से बहुत कमजोर है. इस टीम का मिडिल आर्डर सबसे कमजोर कड़ी है. लेकिन पिछले मैच में रॉबिन उथप्पा के शानदार प्रदर्शन से चेन्नई फाइनल में पहुंची थी तो ये टीम के लिए ये थोड़ी राहत की बात होगी.

कोलकाता की ताकत नारायण-वरुण

कोलकाता की बैटिंग के साथ-साथ इस टीम का बॉलिंग अटैक काफी मजबूत है. नारायण और वरुण चक्रवर्ती को खेलना हर किसी के लिए आसान नहीं हुआ है. केकेआर की लिए ये 2 प्लेयर सबसे बड़ी ताकत है. दोनों प्लेयर के 8 ओवर खेलना किसी भी बल्लेबाज के लिए चुनौतीपूर्ण होता है. ओपनिंग जोड़ी ने अब तक पूरे टूर्नामेंट में धमाकेधार शुरुआता दिलाई है. इस टीम की कमजोरी है इयोन मोर्गन और दिनेश कार्तिक जैसे अनुभव खिलाड़ी. दोनों प्लेयर के बल्ले से अब तक कोई बड़ी पारी नहीं खेली गई है. केकेआर के पास तीसरी बार आईपीएल खिलाब जीतने का अच्छा मौका होगा. 

यह भी पढ़ें:
Qualifier 2: गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन के बाद वेंकटेश अय्यर का कमाल, दिल्ली को हराकर फाइनल में पहुंची कोलकाता नाइट राइडर्स
IPL 2021: प्लेऑफ तक का सफर रहा शानदार लेकिन दिल्ली से आखिरी दो मैचों में कहां हो गई चूक?

About Subhash Kumar 6571 Articles
मै अभी वर्तमान में एक फार्मासिस्ट हूं और साथ साथ एक ब्लॉगर भी हूं मै उत्तर प्रदेश में ललितपुर जिले का रहने वाला हूं और मैंने अपनी स्नातक की पढ़ाई बुंदेलखंड विश्वविद्यालय से पूरी की है स्नातक की पढ़ाई में मैने B.sc ( Biotechnology) की है और उसके बाद मैने (Homoeopathic pharmacy) ललितपुर पैरामेडीकल इंस्टिट्यूट से की हुई हैं 🙂🙂🙂

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*